दुनिया में ना रहल दुनिया के परमाणु युद्ध से बचावे वाला

| द भोजपुरिया टीम, भोजपुरी खोज.काँम के खातिर

आईं चलल जाव आ मिलल जाव ओह जाबांज से जेकरा चलते दुनिया परमाणु युद्ध से बच गईल. एकदम सही बात बा. कहानी शीत युद्ध के दौरान एगो संभावित परमानु आपदा से दुनिया के बचावे वाला पूर्व सोवियत अफ़सर स्तानिस्लाव पेत्रोव के. ७७ साल के उम्र मे स्तानिस्लाव पेत्रोव एह दुनिया के अलविदा कही दिहलें.

हांलाकि स्तानिस्लाव पेत्रोव के निधन मॉस्को के अपना घर में मई में ही हो गईल रहे, लेकिन ई ख़बर दुनिया के अब पता चलल. आईं जानल जाव जाबांज स्तानिस्लाव पेत्रोव के ओह कारनामा के जेकरा उपर सगरो दुनिया के फक्र होखे के चाहीं.

बात बा सन 1983 के, जब स्तानिस्लाव पेत्रोव एगो रूसी परमाणु चेतावनी केंद्र पर ड्यूटी पर रहलें, लेकिन ओह समय कुछ अईसन भईल कि जब कंप्यूटर ग़लती से ई अलर्ट आवे शुरू हो गईल कि अमरीका से कुछ मिसाइल हमला के उद्देश्य से आ रहल बा. लेकिन स्तानिस्लाव पेत्रोव ई फैसला कईले कि ई चेतावनी सही नईखे आ उ एह बात के जानकारी अपना वरिष्ठ अधिकारियन के ना दिहलें.

लेकिन एह घटना में आप लोगन के कुछ भी अजीब ना लागल होई लेकिन इहां इ बतावत चलल जाव कि उनकर ई समझदारी बहुत बाद में सोझा आईल जेकारा मे ई कहल गईल कि एह से एगो संभावित परमाणु युद्ध रुक गईल. अगर कंप्यूटर के ग़लती के स्तानिस्लाव पेत्रोव सही मान के अपना अधिकारियन के जानकारी दे देले रहते त शायद परमाणु युद्ध शुरू हो गईल रहित.

चारो तरफ हहाकार वाला मंजर देखे के मिलल रहित, लेकिन स्तानिस्लाव पेत्रोव के समझदारी से एगो संभावित परमाणु हमला टल गईल.

भोजपुरी खोज.काँम को फेसबुक पर लाइक करें अथवा ट्विटर पर फाँलो करें. अगर आपको यह न्यूज़ पसंद आया तो हमारी सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए आप हम viaon@upi (Pay throw UPI BHIM) डोनेशन (दान) दे सकते हैं.

अगर आप एंड्रायड यूजर हैं तो आप हमारे आधिकारिक न्यूज़ एप को गूगल प्ले स्टोर से डाऊनलोड कर सकते हैं