गुरदासपुर में कांग्रेस के जीत के मायने

| द भोजपुरिया टीम, भोजपुरी खोज.काँम के खातिर
File Photo

पंजाब के गुरदासपुर लोकसभा सीट के उप सभा चुनाव खातिर पड़ल वोट के गिनती अब पूरा हो चुकल बा. कांग्रेज़ के प्रत्याशी सुनील जाखड़ 1,93,219 वोट से भाजपा के प्रतिद्वंद्वी स्वर्ण सलारिया के हरा दिहलें.

ई सीट भाजपा के सांसद विनोद खन्ना के निधन भइला से खाली भइल रहे.

2014 के चुनाव में 1 लाख 36 हजार 65 वोट से कांग्रेस के हार भइल रहे. विनोद खन्ना कांग्रेस प्रत्याशी प्रताप सिंह बाजवा के हरवले रहलें.

अब चुकी दिवाली में सिर्फ कुछे दिन बांच गइल बा अइसे में चहूंओर मोदी मय वातारण के महसूस कर रहल कांग्रेस के खातिर ई जीत दिवाली से कम ना मानल जा सकेला.

कांग्रेस दफ्तर पर दिवाली से चार दिन पहिले ही दिवाली जइसन नज़ारा बा. प्रत्यशी सुनील जाखड़ के गांव अबोहर में भी खुशी आ जश्न के माहौल बा.

उधर आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी सेवानिवृत्त मेजर जनरल सुरेश खजूरिया के जमानत जब्त हो गइल. खजूरिया कांग्रेस पर आरोप लगवले कि ईवीएम में आप के बटन खराब रहे जेकरा कारण लोग वोट ना डाल पावल.

गुजरात चुनाव में कांग्रेस जीत के वजह से पहिले से ज्यादा आत्मविश्वास में नज़र आई. जहां तक कांग्रेस के जीत के बात कइल जाव त ई उप चुनाव कांग्रेसी जीत से ज्यादा भाजपा के खातिर महत्वपूर्ण हो गइल बा.
ई सीट भाजपा सांसद विनोद खन्ना के ही रहल लेकिन उनकरा निधन के कारण उप चुनाव भइल.

भाजपा के अपना अंदर झांके के होइ आ वजह भी तलाश करे के पड़ी कि आखिर आम जनमानस के अब सोच का बा. और कहीं अइसन त नइखे कि लोग भाजपा से ऊब चुकल होखे और अगर अइसन बा त बीजेपी के आत्ममंथन करे के होइ.

कांग्रेस के प्रति लोगन में अबहीं कवनो नजरिया नइखे बनल. लोग कांग्रेस के अबही और समय दिहल चाहत बाड़ें जेकरा वजह से लोगन के गुस्सा के शिकार कांग्रेस के हिस्से में ना आइल.

मायनेता डॉट इन्फो के मुताबिक 2014 में सुनील जाखड़ के पास 25 करोड़ के कुल सम्पति रहे. पत्नी हाउस वाइफ बाड़ी. जाखड़ फेसबुक,ट्विटर,इंस्टाग्राम सहित कई गो शोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी एक्टिव बाड़ें. पहिली बार 2002 में पंजाब के अबोहर क्षेत्र से विधानसभा सदस्य के रूप में चुनल गईलें. 1977 में कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी से एमबीए भी कर चुकल बाड़ें.

सुनील जाखड़ एह जीत के मौके पर कहलें कि गुरदासपुर के जनता मोदी सरकार के नीति के लेके आपन नाराजगी के सख्त संदेश दिहलसि.

उधर बीजेपी छोड़ कांग्रेसी बन चुकल नवजोत सिंह सिद्धू कहलें कि भावी पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के खातिर लाल फीता में ई दिवाली के तोहफा ह.

उपचुनाव में कुल 56 फीसदी वोट दर्ज कइल गइल रहे.

भोजपुरी खोज.काँम को फेसबुक पर लाइक करें अथवा ट्विटर पर फाँलो करें. अगर आपको यह न्यूज़ पसंद आया तो हमारी सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए आप हम viaon@upi (Pay throw UPI BHIM) डोनेशन (दान) दे सकते हैं.

अगर आप एंड्रायड यूजर हैं तो आप हमारे आधिकारिक न्यूज़ एप को गूगल प्ले स्टोर से डाऊनलोड कर सकते हैं