गुजरात मे किला बचवले के चुनौती

| द भोजपुरिया टीम, भोजपुरी खोज.काँम के खातिर
फाइल फोटो, सौजन्य ANI News

गुजरात चुनाव असल मायने में बीजेपी के खातिर किला बचवले के चुनौती बन रहल बा.एकर अंदाज एह बात से लगावल जा सकेला कि खुद प्रधानमंत्री मोदी एक महीने में चउथी बार गुजरात दौरे पर जा रहल बाड़ें.

मोदी बीजेपी के गुजरात गौरव यात्रा के समापन पर लाखों कार्यकर्ता के संबोधित करिहें. मानल जा रहल बा कि गुजरात चुनाव बीजेपी, खास मोदी के खातिर साख के सवाल बन गइल बा.

149 विधानसभा क्षेत्र से होके लगभग 4471 किलोमीटर के यात्रा एह गौरव यात्रा में हो चुकल बा. कुल 182 विधानसभा सीट में से 149 सीट से होके यात्रा सम्पन्न होखे जा रहल बा.

लेकिन एह यात्रा में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ  मध्यप्रदेश,राजस्थान का छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भी शामिल भइलें. यूपी के फायर ब्रिगेड नेता आ बीजेपी हिंदुत्व के प्रमुख चेहरा सीएम योगी आदित्यनाथ एह यात्रा में शामिल होखे पहुंचले.

मानल जा रहल बा कि बीजेपी हिंदुत्व आ धर्म के चेहरा पर गुजरात चुनाव जीते के कोशिश कर रहल बिया.

फाइल फोटो

लेकिन खुद कांग्रेस भी एह धार्मिक चेहरा में खुद के फिट करे के पूरा कोशिश कर रहल बिया. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात दौरे के शुरुआत गुजरात के द्वारका में द्वारकाधीश मंदिर में पूजा अर्चना से कइलें.

कांग्रेस आ बीजेपी दुनो आम मतदाता के बीच संदेश दिहला में कवनो भी कमी नइखे राखल चाहत. जहां बीजेपी के पहिचान हिंदुत्व के राजनीति के रहल बा अब ओहिजा कांग्रेस भी आपन पहिचान आम आदमी के बीच बदले के कोशिश कर रहल बिया.

गुजरात चुनाव के तारीख से पहिले ही चुनाव फिलहाल नरेंद्र मोदी बनाम राहुल गांधी बन रहल बा. एह काम मे दुनो पार्टी शोशल मीडिया के बखूबी प्रयोग कर रहल बाड़ी.

शोशल मीडिया के व्यापक इस्तेमाल कर चुकल बीजेपी के लोकसभा चुनाव में एकर फायदा भी मिलल रहे. लेकिन अब इहे शोशल मीडिया गुजरात मे बीजेपी के फजीहत करा रहल बा.

जहां शोशल मीडिया पर हैशटैग #VikashPagalaGayaHai काफी दिन तक टॉप ट्रेंड में रहल. कांग्रेस भी आपन मौजूदगी शोशल मीडिया पर दर्ज करा रहल बिया. एह खातिर प्रोफेशनल्स के टीम बनावल गइल बा.

ई चुनाव जेतना जमीनी स्तर पर लड़ल जा रहल बा ओतने सोशल मीडिया पर भी. जहां बीजेपी पहिले राहुल गांधी के छवि शोशल मीडिया के जरिये पप्पू आ सहजाद बतवलसि अब ओहि शोशल मीडिया के उपयोग कांग्रेस बीजेपी के खिलाफ प्रचार के खातिर इस्तेमाल कर रहल बा. लोग सुन भी रहल बाड़ें.

भोजपुरी खोज.काँम को फेसबुक पर लाइक करें अथवा ट्विटर पर फाँलो करें. अगर आपको यह न्यूज़ पसंद आया तो हमारी सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए आप हमें डोनेशन (दान) दे सकते हैं.

अगर आप एंड्रायड यूजर हैं तो आप हमारे आधिकारिक न्यूज़ एप को गूगल प्ले स्टोर से डाऊनलोड कर सकते हैं