सुनील प्रजापति पुष्प के देवी गीत हिट भइल 

फोटो/रिपोर्ट:रामचंद्र यादव, भोजपुरी खोज.कॉम के खातिर

कहते हैं कि इरादे नेक हों और कुछ कर गुजरने का जज्बा हो तो इंसान के लिए कुछ भी असंभव नहीं है। जी हाँ, शादी विवाह में फ़ोटोग्राफी, वीडियो शूटिंग, करिज्मा एल्बम डिजाइनिंग करने वाले स्वव्यवसायी सुनील प्रजापति पुष्प ने शौकिया तौर पर गायन शुरू किया, जिसे काफी पसंद किया गया.

वे भोजपुरी फ़िल्म इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं और अभिनेता अभिनेत्रियों के जन्मदिन की यादें ताज़ा अपने डिज़ाइन कला से करते रहते हैं। भोजपुरी फ़िल्म इंडस्ट्री में लगभग सभी कलाकारों से रूबरू हुए सुनील प्रजापति का फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी और करिज्मा एल्बम डिजाइनिंग का काम दिन ब दिन प्रगति की ओर अग्रसर है और दिन दूनी रात चौगुनी कामयाबी की सीढ़ियों पर चढ़ते चले जा रहे हैं.

सुनील पुष्प भोजपुरी इंडस्ट्री के लोगों से बहुत प्यार करते हैं, अच्छे राह पर चले लोग और अच्छा कार्य करें। उनकी चाहत है कि अच्छी भोजपुरी फिल्में बने ताकि हर देश हर कोने कोने में भोजपुरी फिल्मों का नाम अच्छे लिस्ट में दर्ज हो और इंडस्ट्री आगे बढ़े।
विदित हो कि सुनील पुष्प गायक नहीं हैं, पर वे गीत-संगीत का बहुत शौक रखते हैं.

पिछले साल 26 जनवरी, गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर शत शत नमन देश भक्ति गीत अच्छे शब्दों के साथ गाया था सुनील ने, जिसे आदिशक्ति ऑडियो के यूट्यूब चैनल से रिलीज किया गया था। और अब नवरात्री में सबसे हिट देवी गीत झूरके निमिया पतईया अल्बम से लेकर आये हैं, जिसके बोल हैं आईल नवरातर हमरे अंगनवा झुलनवा झुलेली मइया.

यह देवी गीत खूब पसंद किया जा रहा है और माता रानी का उन्हें आशीर्वाद भी मिल रहा है। देवी गीत के अल्बम झूरके निमिया पतईया के निर्माता प्रेमधनी विश्वकर्मा (रिच इंटरनेशनल यूट्यूब चैनल), निर्देशक एस. के. सिंह हैं.

गीतकार मृत्युंजय सिंह सिप्पी के लिखे इस देवीगीत को संगीतकार सुनील चौबे साँवला ने मधुर संगीत से सजाया है।