सऊदी दूतावास में ही पत्रकार खशोगी के मौत

लगभग दू सप्ताह बाद सऊदी अरब के सरकार लापता पत्रकार जमाल खशोगी के बारे में स्वीकार कर लिहलस की तुर्की स्थित सऊदी वाणिज्यिक दूतावास में पत्रकार खशोगी के हत्या हो गइल रहे.

सऊदी अरब अब तक के सबसे कठिन अंतरराष्ट्रीय संकट से गुजर रहल बा. जमाल खशोगी 2 अक्टूबर के दिन तुर्की स्थित सऊदी वाणिज्यिक दूतावास में अपना शादी के खातिर जरूरी कागजात लेबे गइल रहलें.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार खशोगी के आखिरी बार दूतावास में जात देखल गइल रहे अउर उ बाहर ना अइलें. लेकिन सऊदी सरकार ऐसे पहिले लगातार दावा करत रहे कि पत्रकार खशोगी दूतावास से बाहर चल गइल रहलें.

उधर तुर्की सरकार जांच कर रहल बिया. तुर्की के अनुसार सऊदी के विशेष एजेंट दूतावास में ही सऊदी पत्रकार के हत्या कर दिहलें.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प पहिलहीं कह चुकल बाड़ें कि अगर पत्रकार के मौत में सऊदी के हाथ साबित भइल त अमेरिका सऊदी अरब पर प्रतिबंध लगा दिही. लेकिन अंतरराष्ट्रीय समुदाय के अनुसार सऊदी अरब के सबसे बढ़ समर्थकन में डोनल्ड ट्रम्प भी शामिल बाड़ें.

अमेरिकी के प्रतिबंध वाली धमकी के बाद सऊदी अरब स्वीकार कर चुकल बा कि पत्रकार खशोगी के हत्या सऊदी दूतावास में सऊदी अधिकारियन के ही द्वारा भइल.

सऊदी अरब के अटार्नी जनरल शेख साद अल मोजेब के अनुसार वाणिज्यिक दूतावास में ‘चर्चा’ तकरार में बदल गइला के बाद जमाल खशोगी के मौत हो गइल. लेकिन अटर्नी जनरल खशोगी के शव के बारे में कवनो भी जानकारी मीडिया के ना दे पवले.

सऊदी अरब के अटार्नी जनरल द्वारा जारी बयान के अनुसार ‘ वाणिज्यिक दूतावास में खशोगी से मिले आइल लोगन में चर्चा के बाद बहस आ विवाद में पत्रकार के हत्या हो गइल. ईश्वर उनकी आत्मा के शांति दें.’

उधर अमेरिका अब सऊदी अरब पर कार्रवाई करी या फिर सऊदी अरब अब भी डोनल्ड ट्रम्प के चहेता देश बनल रही, ई शायद अब मोल भाव के राजनीति पर भी केंद्रित हो सकेला.

सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी के तुर्की स्थित सऊदी वाणिज्यिक दूतावास के अंदर सऊदी अधिकारियन द्वारा मार दिहला के घटना के बाद पत्रकारन के स्थिति ढेर निमन नइखे ई सोचल जा सकेला. आप लोगन के बता दिहल जाव कि खशोगी सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस के धुर अलोचकन में शामिल रहलें.

सऊदी छोडला के बाद खशोगी अमेरकी न्यूज़ पेपर खातिर काम करत रहलें.